PG का फुल फॉर्म PG कोर्स क्या होता है कैसे करें 2021

आज का हमारा टॉपिक है PG का फुल फॉर्म क्या है । आज के इस topic में हम बात करेंगे कि PG कोर्स क्या होता है , Pg यह एक ऐसा कोर्स होता है जिसकी मांग दिन के दिन बढ़ती ही जाती है।

क्योंकि कुछ ही  Student होते जो अपनी पढ़ाई UG कोर्स के पूरा होने के बाद PG कोर्स करते है। पीजी Course UG कोर्स की तुलना में ज्यादा मायने रखता है ।

PG डिग्री यह एक मास्टर डिग्री होती है जब भी आप UG के बाद में PG कोर्स करते है , तो आपको PG में किसी एक Subject को लेकर पड़ाई करते है । जिसे करने के बाद आप उस Course में master कर लेते है।

आज के इस Post में आपको यही जानकरी देने वाले है कि PG  कोर्स का फुल फॉर्म क्या है, इस कोर्स के क्या फायदे होते है PG course के बाद Job ऑप्शन क्या होते है , इस प्रकार की समस्त जानकरी आज आपको इस post के माध्यम से मिलने वाली है ।

PG का फुल फॉर्म : PG ka full form

PG का फुल फॉर्म होता है “Post Graduate ” हिंदी में इसे स्नातकोत्तर कहते है। यह आप course UG {under Graduate} करने के बाद ही इस कोर्स में एडमिशन ले सकते है।

स्नातक कोर्स जैसे BA, Bsc, B.com,BCA 3 वर्षीय कोर्स पूरा करने के बाद आप इस कोर्स को करने के लिए eligible होते है।

PG कोर्स क्या होता है 

Pg कोर्स यह एक post graduate (स्नातक) 2 वर्षीय कोर्स है, जैसे की मेने आपको बताया कि यह कोर्स आप BA, Bsc, BCA B. com  कोर्स करने के बाद आप pg कोर्स कर सकते है।

इस कोर्स को  स्नातक course से ज्यादा महत्व दिया जाता है। क्योंकि इस कोर्स को आप किसी भी एक Subject से करते है । जिससे आपको इस subject के बारे में Advance knowledge हो जाता है ।

और आप उस Subject के मास्टर कहलाते है ,PG कोर्स जैसे MA, M.sc, M.ca, M.com  यह कोर्स पीजी कोर्स के अंर्तगत आते है।

इस कोर्स को करने के बाद आप उसी सब्जेक्ट से पी.एच.डी. कर किसी College में lecturer , प्रोफेसर बन सकते है । कोर्स करने के बाद आपको किसी भी सरकारी डिपार्टमेंट में किसी अच्छी post की जॉब भी मिल सकती है।

Bsc का फुल फॉर्म क्या होता है बीएससी कैसे करें

PG कोर्स करने के लिए योग्यता

Graduation पूरा करें

इस कोर्स में Admission लेने के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त महाविद्यालय/ University से 3 वर्षीय स्नातक degree( बीए. बीएससी. बीकॉम) पूरी करने के बाद ही admission प्राप्त कर सकते है ।

आयु सीमा-

इस कोर्स को करने के लिए किसी भी प्रकार की Age Limit निर्धारित नही की गई। किसी भी आयु सीमा का Candidate आसानी से इस कोर्स में Admission ले सकता है ।

PG कोर्स Duration

PG कोर्स की समय अवधि 2 साल की होती है , UGC के द्वारा भारत् में स्नातकोत्तर की डिग्री बहुत से यूनिवर्सिटी और Institute उपलब्ध है , जो 2 वषीय course में आपके 4 सेमेस्टर होते है ।

BA का फुल फॉर्म क्या है 

PG कोर्सेज कैसे करें 

आपका under ग्रेजुएट course हो चूका है तो आप देश के किसी भी मान्यता प्राप्त University से पीजी कोर्सेज आसानी से कर सकते है ,  अगर आप कोई प्रोफेसनल course करना चाहते जैसे टेक्नोलॉजी या मेडिकल के Field में तो आपको ऐसे course करने के लिए एंट्रेंस Exam पास करना होता है ।

आपके subject के अनुसार आपको कॉलेज भी search करना होगा , उस Institute / या यूनिवर्सिटी द्वारा Conduct कराये जाने वाले एंट्रेंस एग्जाम Qualify करने के बाद आप उस इंस्टिट्यूट या University के PG program में सामिल हो सकते है ।

BCA का फुल फॉर्म क्या है 2021 में BCA ऐसे करें 

UG और PG कोर्स में अंतर

UG और PG कोर्स में थोड़ा ही अंतर है जिसे आप कुछ इस तरह से समझ सकते है –

क्रमांक स्नातक (UG) स्नातकोतर (PG)
1.UG का फुल फॉर्म "Under Graduate" हिंदी में स्नातक PG का फुल फॉर्म "Post Graduate " स्नात्तकोत्तर
2.स्नातक UG Degree को Bachelor डिग्री कहते है ।स्नातकोतर PG Degree को Master डिग्री कहते है ।
3.UG कोर्स 12th के बाद किया जाने वाला कोर्स है ।PG कोर्स को UG कोर्स पूरा करने के बाद किया जा सकता है ।
4. UG कोर्स में मुख्य रूप से बीए , बीएससी , बीकॉम , बीसीए जैसे कौर्स सामिल होते है ।PG कोर्स में मुख्य रूप से एम . ए , एमकॉम , एमएससी , m.com पीएचडी जैसे कोर्स को सामिल किया जाता है ।
5. UG कोर्स मुख्य रूप से 3 साल का होता है कुछ ही कौर्स होते है जो 4 साल के होते है ।PG कोर्स की अवधि 2 साल की ही होती है ।

PG डिग्री के प्रकार (Types of PG Course )

PG कोर्स में 4 प्रकार के syllabus 4 type से होता  है जिसमे आपको रिसर्च , conversation, professional जैसे योग्यता सिखाई जाती है यह सभी सिलेबस आपको यूनिवर्सिटी के द्वारा पढाई जाती है कुछ  ऐसे सिलेबस है जो आपको एक अलग ही इंस्टिट्यूट में पढाई जाती है जैसे – industrial, टेक्नोलॉजी , manufactured इत्यादि ।

♦ Taught कोर्सेज

इसमें आपके मास्टर degree और ग्रेजुएट diploma के बारे में बताया जाता है , इस course की मान्यता स्नातक डिग्री के बराबर होती है , इस course में आपको किसी भी एक subject के बारे में पूरी जानकारी दी जाती है ।

जिसका बाद में मूल्याकन किया जाता है placement , रिसर्च , प्रोजेक्ट जैसे सिलेबस हो सकते है ।

♦ Research डिग्री

रिसर्च Degree इनको डोक्टरेल के लिए ही जाना जाता है, मुख्य  Research Degree जैसे पीएचडी . D.Phil , प्रोफेसनल डॉक्टरेट इत्यादि ।

♦ Professional डिग्री

इसमें Professional योग्यता वो रखते है जो practical training को आधार मानकर चलते है , यह एक विशेष Industry से जुड़े होते है । जो करियर  को सुधारने के लिए / career को develop करने के लिए जिससे  लोगो की help हर सके उस प्रकार से डिजाईन किया जाता है ।

RRR Movie full form 2021 |Released date| Review |budget | Star-cast

♦ Conversion कोर्सेज

कन्वर्शन सिलेबस को हम क्रेश के नाम से भी जानते है , इसमें किसी एक subject को गति देने के लिए तेयार किया जाता है जिसके बारे में आप पहले ही पड़ चुके होते है । इस course के माध्यम से किसी person (व्यक्ति) को किसी विशेष business के लिए तैयार किया जाता है ।

PG कोर्सेज के सब्जेक्ट

इस course में  कई प्रकार के subject को सामिल किया जाता है, PG डिग्री में बहुत संख्या में सुब्जेक्ट् होते है । यह डिपेंड करता है की student स्नातक की डिग्री की subject से की है उसी के आधार पर वह PG डिग्री में उसी में से किसी एक subject को चुन सकता है ।

PG course hindi
image : Pixabay

जैसे – अगर किसी student स्नातक आर्ट्स subject से करता है तो वह PG की डिग्री भी आर्ट्स subject से ही करने के लिए eligible होता है साइंस स्ट्रीम का student साइंस सब्जेक्ट्स ही इस course को कर सकता है ।

♦ PG कोर्स  Arts Subject

  1. M. A. in Hindi
  2. M. A. in English
  3. M. A. in इतिहास
  4. M. A. in अर्थशास्त्र
  5. M. A. in भूगोल
  6. M. A. in समाजशास्त्र
  7. M. A. in राजनीति  विज्ञानं
  8. M. A. in योगा
  9. M. A. in संस्कृत
  10. M. A. in दर्शनशास्त्र
  11. M. A. in मनोविज्ञान
  12. M. A. in  मानविकी

♦ PG कोर्स साइंस सुब्जेक्ट्स

  1. M.Sc  इन फिजिक्स
  2. M.Sc  इन बायोलॉजी
  3. M.Sc इन रसायनशास्त्र
  4. M.Sc इन mathematics
  5. M.Sc इन जूलॉजी
  6. M.Sc बोटनी
  7. M.Sc computer Science

NEET का फुल फॉर्म क्या है ?

Top PG कोर्सेज इन इंडिया

भारत में कुछ PG कोर्सेज है जिनको सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है जो निम्न प्रकार से है –

  • Master of आर्ट्स
  • Master of  साइंस
  • Master of लो (Low )
  • Master of Fine Arts
  • Master of कॉमर्स 
  • मास्टर ऑफ़ इंजीनियरिंग
  • Master of हेल्थ साइंस
  • Master of लाइब्रेरी साइंस
  • Master of कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म
  • Master of labour मैनेजमेंट
  • Master of बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन
  • Master of ह्यूमन रिसोर्सेज मैनेजमेंट
  • Master of कंप्यूटर एप्लीकेशन

Popular Govt. कॉलेज इन इंडिया 

  1.  University of Delhi  – Delhi
  2. बनारस  Hindu University  – Varanasi
  3.  अलीगड़  Muslim University – अलीगड़
  4. University of Allahabad –  प्रयागराज
  5. जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी – दिल्ली
  6. जादवपुर यूनिवर्सिटी – कोलकाता
  7. रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय – जबलपुर
  8. आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट – नई दिल्ली
  9. अन्ना यूनिवर्सिटी – चेन्नई
  10. जवाहरलाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन ऑफ़ रिसर्च – पोंडिचेरी

PG करने के बाद जॉब 

हर कोई चाहता है की सरकारी जॉब मिले लेकिन यह हर की के बस में नही होता है अगर आपको Govt सेक्टर में जॉब नही मिलती है तो आप Private Field में भी जॉब कर सक्ते है ।

इस PG program को कम्पलीट करने के बाद आपको सरकारी field में निम्न प्रकार की जॉब search कर सकते है

  1. बँकिंग
  2. NDA (navy)
  3. एयरफोर्स
  4. NASA 
  5. इसरो 
  6. medical (हेल्थ )
  7. इंडियन आर्मी (ऑफिस वर्क )
  8. सिविल सेवा में
  9. टीचिंग के फील्ड में
  10. पुलिस

ये तो कुछ मुख्य सरकारी  क्षेत्र  के बारे में बताया , इसके आलावा भी बहुत सारे field होते है वंहा आप जॉब search कर सकते है ।

PG करने के बाद सैलरी

यह सबसे मुख्य पार्ट होता है जब भी हम किसी चीज को पाने के लिए दिलों जान मेहनत करते है , तो हर कोई चाहता है की PG के course करने के बाद हमें कितनी Salary मिल सकती है ।

इसके बारे में कुछ fix तो बता नही सकता क्युकी PG हर स्ट्रीम से होती है चाहे वो आर्ट्स , साइंस या फिर कॉमर्स हर Field में अलग अलग टाइप की Salary मिल सकती है । जैसे की मने ऊपर कुछ सरकारी job के Field बताये है अगर आप एक सरकारी जॉब करते है तो आपको हर महीने लगभग कम से कम 40k-50k तक मिलती है ।

अगर आप medical या फिर Technology के Field में जॉब करते है तो कम से कम 100k-300k तक सैलरी पा सकते है ।

UGC NET का फुल फॉर्म क्या है UGC नेट एग्जाम कैसे पास करें 

FAQ (अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न )

प्रश्न 1. पीजी का मतलब क्या होता है ? 

उत्तर – PG का मतलब ” Post graduate ”  यह एक डिग्री /डिप्लोमा यह कोर्स होता है जिसकी अवधि 2 साल की होती है ।

प्रश्न 2. पीजी के बाद क्या होता है ? 

उत्तर –  पीजी course के बाद आप सरकारी Field में जॉब कर सकते है या फिर PHD Research कर सकते है ।

प्रश्न 3. पीजी में कौन-कौन से course आते है ? 

उत्तर – PG में M.A , m.com , M.ca, M.sc जैसे कोर्स आते है ।

प्रश्न 4. पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद क्या करें ? 

उत्तर – पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद आप banking, digital Marketing, finance, आईटी फील्ड , Govt jobs , सिविल सेवा की जॉब के लिए apply कर सकते है या फिर किसी एक subject में  रिसर्च करने के PHD कर सकते है ।

आज आपने क्या सीखा

उम्मीद है आपको आज के post  PG का फुल फॉर्म क्या है से बहुत कुछ सिखने मिला जैसे पीजी कोर्स क्या है , कैसे करें , क्या योग्यता होनी चाहिए PG करने के बाद रोजगार के क्षेत्र के बारे में पूरी जानकारी हो गयी होगी ।

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया तो आप अपने दोस्तों के साथ share करे ताकि दूसरों को भी इसके बारे में विस्तारित Information प्राप्त हो जाये । अगर आपका कोई सवाल या फिर कोई सुझाव हो तो आप मुझे comment कर के पूछ सकते है ।

हमारे आने वाले नये नये पोस्ट की जानकारी सबसे पहले लेने के लिए आप हमारे Blog को subscribe जरुर करें ।

Social Share

Leave a Comment